Mutual Fund kya hai?

mutual fund kya hai

म्यूचुअल फंड (Mutual Fund in Hindi) , (Mutual fund kya hai)

आज कल हर जगहा पे म्यूचुअल फंड  के बारेमे आप लोगो ने सुना हि रहेगा. टीव्ही पे बहोत बार म्यूचुअल फंड के विग्यापन  भी देखे रहेंगे.

बहोत लोगो को म्यूचुअल फंड  के बारे में (Mutual Fund kya hai) कुछ भी पता नही होता. इसलिये हम उंन सभी लोगो के लिये म्यूचुअल फंड  के बरे में जानकारी (Mutual Fund kya hai)  लेके आये है.

mutual fund kya hai

म्यूचुअल फंड क्या है? (Mutual Fund kya hai?)  (What is mutual fund?)

म्यूचुअल फंड  शेयर मार्केट मे अपना पैसे निवेश करने का सब से सरल और बिना टेन्शन वाला तारिका है.

म्यूचुअल फंड कंपनीया  सभी निवेशकोसे अपनी अलग अलग इन्व्हेस्टमेंट योजना में निवेश करने को बोलती है. हमारे और आपके जैसे ढेर सारे लोगों का पैसा इकट्ठा किया जाता है. ये सब पैसे इकट्ठा करने के बाद जो भी म्यूचुअल फंड मॅनेजर ये सब पैसे शेयर बाजार/ बॉण्ड्स में निवेश करता है. ये फंड मैनेजर निवेश के मामलों का विशेषज्ञ होता है. शेयर मार्केट में जो उपर नीचे हलचल होती है उसका फायदा उठाके वो ज्यादा से ज्यादा प्रॉफिट लेने कि कोशिश करता है.

इस तरह म्यूचुअल फंड के जरिए एक छोटा निवेशक जिसे शेयर मार्केट से डर लगता है ,या शेयर मार्केट कि जानकारी नही है लेकिन अपने पैसे के निवेश के उपर कम रिस्क में ज्यादा प्रॉफिट कमना है , वो लोग म्यूचुअल फंड में निवेश कर सकते हे. उनके लिये म्यूचुअल फंड सही है (mutual fund sahi hai).

म्यूचुअल फंड मॅनेजर कहा पे हमारा पैसा कहा निवेश करते है?

फंड्स के कई प्रकार होते हैं जिन्हें उनके निवेश के अनुसार जाना जाता है. म्यूचुअल फंड मॅनेजर फंड के स्वरूप के नुसार निवेश करते है. यानी कोयी फंड सिर्फ स्मॉल स्केल फंडस् के लिये है तो ऊस हिसाब से फंड मॅनेजर निवेश करते है. यादी कोयी फंड ब्लू चिप फंड है तो ज्यादा तर निवेश बडी ब्लु चिप कंपनीयो मी निवेश करते है.

फंड मॅनेजर निवेश शेयर मार्केट, गोल्ड, बॉण्ड्स,कॉमोडिटीस मे पैसा डालके एक बेहतर पोर्टफोलियो बनते है. पोर्टफोलियो बेहतर होगा तो निवेशको को बेहतर प्रॉफिट मिलता है.

 

म्यूचुअल फंड के फायदे (Mutual fund ke fayde)

1. बंकों में ब्याज काम होता जा रहा है , इसलिये निवेश करने के लिए म्यूचुअल फंड बहुत अच्छा विकल्प है.

2. लम्बे समय तक निवेश किया जाए तो यह निवेश पर सबसे अधिक रिटर्न प्राप्त करने का ज़रिया बन सकता है.

3.  म्यूचुअल फंड का सबसे बड़ा फायदा यह है की एक निवेशक जिसे शेयर बाज़ार की अधिक जानकारी नहीं है, वो भी शेयर बाजार से अच्छा  कमाई कर सकता है.

4. म्यूचुअल फंड में निवेश करना आसान है और एस.आई.पी (SIP) के द्वारा म्यूचुअल फंड में हर महिने थोडा थोडा निवेश कर सकते है.

 

म्यूचुअल फंड चुनाव (Mutual fund kaise chune)

1. आपकी निवेश अवधि क्या है ? (First – Investment period)

सबसे पहले तो आपको ये तय करना है कि आपके निवेश का मकसद क्या है. आप कितना निवेश कर सकते हैं और कितने समय के लिए इसमें बने रह सकते हैं. अगर आपको साल-दो साल के लिए निवेश करना है, तो उसके लिए अलग म्यूचुअल फंड होंगे. अगर आपको 5 से 10 साल या इससे भी ज्यादा समय के लिए निवेश करना है, तो उसके लिए दूसरे म्यूचुअल फंड होंगे. मतलब साफ है कि सही म्यूचुअल फंड का चुनाव इसी बात पर निर्भर करता है.

मिसाल के लिए, अगर आप छोटी अवधि के लिए निवेश कर रहे हैं, तो आप डेबट फंड (Debt Fund)  या लिक्विड फंड (Liquidity fund) चुन सकते हैं. वहीं अगर आप लंबी अवधि के लिए निवेश कर रहे हैं, तो फिर आपके लिए इक्विटी म्यूचुअल फंड (Equity Mutal Fund) सही रहेंगे.

 

 2. जोखिम लेने की क्षमता क्या है ? (Second – Risk taking ability)

आपकी जोखीम लेने कि क्षमता क्या है इसपे भी निवेश निर्भर करता है. यदी आप बहोत ज्यादा रिस्क लेके बहोत प्रॉफिट कमाना चाहते है तो आप  स्मॉल कॅप अँड मिड कॅप फंड मे निवेश करना चाहिये.  लेकिन यादी आपको रिस्क ज्यादा नही लेना है तो आप लार्जे कॅप फंड  / डिव्हर्सिफाइड फंड / मल्टी कॅप फंड मे निवेश कर सकते है. स्मॉल कॅप अँड मिड कॅप फंड से थोडा कमं प्रॉफिट मिलेगा पर रिस्क भी कम होगा.

 

3. म्यूचुअल फंड कंपनी और मैनेजर का रिकॉर्ड भी देखें (Third -Performance of Mutual fund company and Fund manager)

जिस म्यूचुअल फंड स्कीम में आप पैसा लगाने जा रहे हैं, उस स्कीम को लाने वाली कंपनी और उसकी देखरेख करने वाले मैनेजर का रिकॉर्ड चेक करना भी मायने रखता है. देखें कि फंड हाउस कितने समय से काम कर रहा है, उसकी दूसरी स्कीमों का परफॉर्मेंस कैसा रहा है और कंपनी की साख बाजार में कैसी है. साथ ही ये भी पता लगाएं कि आपकी स्कीम के फंड मैनेजर का अनुभव कितना है और वो इस स्कीम को कितने समय से मैनेज कर रहा है.

अलग-अलग फंड्स के पिछले प्रदर्शन से आप एक तुलनात्मक अध्ययन कर सकते हैं .किस फंड के परफॉर्मेंस में एक कंसिस्टेंसी है. और उसके प्रदर्शन में उतार-चढ़ाव बाजार और इकोनॉमी से बहुत अलग तो नहीं हैं. इससे आपको अपनी मनपसंद फंड स्कीम चुनने में मदद मिलेगी,

 4. फंड  के रेटिंग, परफॉर्मेंस (Fourth Fund Rating and Performance)

साथ ही, ऐसी कई वेबसाइट हैं, जहां आप किसी भी फंड के परफॉर्मेंस, रेटिंग, पोर्टफोलियो वगैरह की जानकारी हासिल कर सकते हैं. थोड़ा सा समय दीजिए और फिर अपनी जरूरतों के मुताबिक फंड चुनकर निवेश शुरू कर दीजिए.

Most important:  फंड चुनाव करने के बाद निवेश करते समय स्कीम के पुरे दस्तावेज बढे. पुरी जानकारी ले और उसके बाद निवेश करे

Disclaimer : Mutual fund investments are subject to market risks. Please read the scheme information and other related documents before investing. Past performance is not indicative of future returns. Please consider your specific investment requirements before choosing a fund, or designing a portfolio that suits your needs.

Suggestions : Mutual fund is best investment method. Your can purchase Mutual fund online to UPSTOX.

Please comment your views..

1 thought on “Mutual Fund kya hai?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Top